Breaking News
Home / ਵਾਇਰਲ / ਆਹ ਤਸਵੀਰਾਂ ਦੇਖ ਹੋਸ਼ ਉਡ ਜਾਵੇਗਾ ਕੇ ਏਨੇ ਤੰਗ ਜਗ੍ਹਾ ਤੇ ਰਹਿੰਦੇ ਨੇ ਲੋਕ ਦੇਖੋ ……

ਆਹ ਤਸਵੀਰਾਂ ਦੇਖ ਹੋਸ਼ ਉਡ ਜਾਵੇਗਾ ਕੇ ਏਨੇ ਤੰਗ ਜਗ੍ਹਾ ਤੇ ਰਹਿੰਦੇ ਨੇ ਲੋਕ ਦੇਖੋ ……

ਤਾਜੀਆਂ ਤੇ ਸੱਚੀਆਂ ਖਬਰਾਂ ਸਭ ਤੋਂ ਪਹਿਲਾਂ ਦੇਖਣ ਲਈ ਹੁਣੇ ਹੀ ਪੇਜ ਨੂੰ ਲਾਈਕ ਕਰੋ ਅਸੀਂ ਹਮੇਸ਼ਾ ਸਹੀ ਤੇ ਨਿਰਪੱਖ ਜਾਣਕਾਰੀ ਦੇਣ ਦੀ ਤੁਹਾਨੂੰ ਕੋਸ਼ਿਸ਼ ਕਰਦੇ ਹਾਂ , ਸਾਡੇ ਨਾਲ ਜੁੜਨ ਲਈ ਤੁਹਾਡਾ ਧੰਨਵਾਦ
मेरी एक दोस्त है श्रेया। वो किराए के मकान में रहती है। आए दिन उसकी एक ही शिकायत रहती है कि उसकी मकान मालकिन बहुत झगड़ालू है।

श्रेया की उससे बिल्कुल भी नहीं बनती है। कभी बिजली को लेकर तो कभी सफाई को लेकर, उन दोनों का झगड़ा हो जाता है।

कल तो बात इतनी बढ़ गई कि श्रेया ने तय कर लिया कि वो अब वहां नहीं रहेगी। फिर क्या था? हम दोनों निकल पड़े उसके लिए नया घर ढूंढ़ने।

वैसे मकान तो मिल गया पर किराया सुनकर हम दोनों हैरान रह गए। छोटे-छोटे घरों का किराया इतना कि सुनने के बाद हमारे होश उड़ गए।

फिर सोचा कि यहां रहने पर इंसान खाएगा क्या और बचाएगा क्या? आखिर श्रेया ने तय किया कि वो झगड़ालू मकान मालकिन के साथ ही एडजस्ट कर लेगी।’

वैसे भी बड़े शहरों में किराए का घर मिलना मुश्किल होता है।

कुछ लोग तो फुटपाथ को ही अपना घर बना लेते हैं।

एक पल के लिए सोचिए कभी आपको भी ऐसे घर में रहना पड़े, जहां पैर फैलाना भी मुश्किल हो तो आप क्या करेंगे? सोचकर ही डर लगता है न।

मगर आज हम आपको एक ऐसी ही जगह के बारे में बताने वाले हैं। जहां लोग ऐसी ही जगहों पर रहने को हैं मजबूर।

दसवीं क्लास में जाते ही हमें अपना खुद का कमरा चाहिए होता है।

नहीं मिले तो पापा से कहासुनी भी हो जाती है।

इस तस्वीर को देखिए। छोटी सी जगह में पूरे घर की चीजें समाई है। वैसे इससे बड़ा तो हमारा बाथरूम होता है।

आपको बता दें कि हॉन्ग कॉन्ग में करीब 2,00,000 लोग ऐसी ही जगह पर रहने के लिए मजबूर हैं।

हॉन्ग कॉन्ग के इन घरों को कॉफिन होम कहा जाता है।

कॉफिन दरअसल उस डब्बे को कहते हैं जिसमें क्रिश्चियन लोग मौत के बाद लाश को रखकर कब्रिस्तान ले जाते हैं।

इन घरों को देखकर ऐसा महसूस होता है कि इन लोगों से ज्यादा जगह तो लाशों को मिलती है।

About admin

Check Also

ਅੱਜ ਮਾਤਾ ਲਕਸ਼ਮੀ ਦੀ ਕ੍ਰਿਪਾ ਨਾਲ ਇਹ 5 ਰਾਸ਼ੀਆਂ ਵਾਲੇ ਹੋਣਗੇ ਮਾਲੋਮਾਲ ਦੇਖੋ ਆਪਣਾ ਅੱਜ ਦਾ ਰਾਸ਼ੀਫਲ

ਰਾਸ਼ਿਫਲ ਦਾ ਸਾਡੇ ਜੀਵਨ ਵਿੱਚ ਬਹੁਤ ਮਹੱਤਵ ਹੁੰਦਾ ਹੈ । ਰਾਸ਼ੀ ਦੇ ਅਨੁਸਾਰ ਵਿਅਕਤੀ ਦੇ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!